◀ Back खाप समाचार

गुर्जर समाज में फैली कुरीतियों पर एकजुटता का आह्वान

23 अक्टूबर 2017 (गुरुग्राम) : अखिल भारतीय गुर्जर महासभा के तत्वावधान में गांव तिगरा में आयोजित महापंचायत में फैसला लिया गया कि समाज में फैली कुरीतियों को दूर किया जाएगा। इस दौरान बेटी की पढ़ाई के साथ ही दहेज प्रथा पर रोक लगाने की बात भी कही गई। महापंचायत की अध्यक्षता अखिल भारतीय गुर्जर महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. यशवीर ने की। जम्मू-कश्मीर सरकार में मंत्री जफर खटाना ने कहा कि गुर्जर समाज शिक्षा के क्षेत्र में काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है। कश्मीर से ही गुर्जर नेता रब्बानी चेची ने कहा कि लड़कियों की शिक्षा पर अधिक जोर देने की जरूरत है। लोनी से विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने आह्वान किया कि सभी गुर्जर समाज हित में बेटियों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। समाज के कुछ लोग सराहनीय कार्य कर रहे हैं, जिन्हें और आगे बढ़ाने की जरूरत है। महाराष्ट्र से आए गुर्जर समाज के प्रतिनिधि ने कहा कि महाराष्ट्र में गुर्जर समाज ने काफी हद तक अंदर की बुराइयों को समाप्त कर दिया है। इसलिए उत्तर भारत के गुर्जर समाज के लोगों को भी अब एकजुट होकर आगे बढ़ना होगा। महापंचायत के आयोजक अनंतराम तंवर ने प्रतिनिधियों का आभार जताया। कार्यक्रम में बिरादरी के कई गोत्र के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। आईपीएस अधिकारी भैरव सिंह गुर्जर ने कहा कि अगर समाज सिर्फ शिक्षा पर पूरा ध्यान लगा दे तो दहेज जैसी अनेक बुराइयां अपने आप समाप्त हो जाएंगी। इस मौके पर जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र आदि प्रदेशों से लोग आए।

अहम फैसले लिए : महापंचायत में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि दहेज प्रथा बंद हो, शादी समारोह में शराब व डीजे बजाने पर प्रतिबंध रहे। बारात में अधिक बाराती न जाएं व बड़ा टेंट आदि लगाने पर पाबंदी रहेगी।

October 24, 2017 को प्रकाशित