◀ Back खाप समाचार

खाप सांगवान के प्रधान पद पर विवाद गहराया, कई गुट आमने सामने

6 अप्रैल 2017 (चरखी दादरी) : दादरी क्षेत्र की सबसे बड़ी खाप सांगवान चालीस के प्रधान कर्नल रिसाल सिंह के निधन के बाद बुधवार को खाप का नया प्रधान चुनने के लिए गांव चरखी में सर्वजातीय बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जहां पहले भाजपा नेता सोमबीर सांगवान को प्रधान घोषित कर पगड़ी पहनाई गई वहीं कुछ ही देर में दूसरे धड़े ने गांव के चौक में पंचायत आयोजित कर सत्यपाल सांगवान को प्रधान घोषित कर दिया। इस दौरान दो धड़ों में बंटी पंचायत में जमकर लात-घूंसे भी चले। बाद में पूर्व प्रधान स्व. कर्नल रिसाल सिंह के पुत्र कर्नल अशोक द्वारा भी दावेदारी पेश करते हुए नये सिरे से पंचायत करवाने की चर्चाएं जोरों पर रही। हालांकि सांगवान खाप की कोर कमेटी ने अभी तक इस संबंध में कोई आधिकारिक सूचना नहीं होने की बात कही है। गांव चरखी के कन्या स्कूल में सांगवान खाप चालीस का नया प्रधान नियुक्त करने के लिए बुधवार को गांव की पंचायत आयोजित की गई थी। सांगवान खाप के पूर्व प्रधान कर्नल रिसाल सिंह के निधन के बाद नए प्रधान की नियुक्ति की जिम्मेवारी गांव चरखी की पंचायत को ही सौंपी गई थी। पंचायत की अध्यक्षता चरखी के सरपंच गुलजारी लाल व मंच संचालन गांव निवासी भूपेंद्र द्वारा किया गया। खाप परंपरा के अनुसार कमेटी के दोनों सदस्यों द्वारा संयुक्त रूप से ग्रामीणों की सहमति से प्रधान की घोषणा की जाती है। पंचायत के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता सोमबीर सांगवान व सत्यपाल सांगवान ने खाप प्रधानी के लिए दावेदारी जताई थी। पंचायत में वक्ताओं ने दोनों के ही पक्ष में तर्क व विर्तक दिए, जिसके बाद आम सहमति को लेकर काफी देर तक हंगामा भी रहा। हंगामे के बीच ही पंचायत में भाजपा नेता सोमबीर सांगवान के नाम पर मोहर लगाते हुए उन्हें खाप प्रधान की पगड़ी पहना दी गई। वहीं दूसरे गुट ने इसका विरोध करते हुए अलग से पंचायत कर सत्यपाल उर्फ सत्ते सांगवान को प्रधान नियुक्त कर दिया। इस दौरान गांव के चौक में आयोजित पंचायत में दूसरे गुट के लोगों ने कहा कि कमेटी के दोनों सदस्यों द्वारा इस संबंध में कोई सहमती नहीं हुई। अब या तो दोबारा पंचायत कर प्रधान की नियुक्ति की जाए अन्यथा सत्यपाल गुट ही प्रधान हैं।

सोमबीर ही प्रधान – गुलजारी : गांव के सरकारी स्कूल में आयोजित पंचायत की अध्यक्षता कर रहे सरपंच गुलजारी लाल ने बताया कि खाप परंपरा अनुसार गांव की पंचायत में सर्वसम्मति से सोमबीर सांगवान को सांगवान खाप चालीस का प्रधान नियुक्त किया गया है। कुछ लोगों ने परंपरा व नियमों को ताक पर रखते हुए अलग से पंचायत कर स्वयंभू प्रधान घोषित कर दिया है।

नहीं बनी सहमति – भूपेंद्र : गांव के चौक में पंचायत का संचालन कर रहे भूपेंद्र सांगवान ने बताया कि पंचायत में कोई सहमति नहीं बनी थी। उन्होंने स्वयं मंच संचालन करते हुए पंचायत रद करने की घोषणा दी थी। लेकिन कुछ लोगों ने जबरन सोमबीर सांगवान को प्रधान नियुक्त कर नियमों का उल्लंघन किया है।

36 बिरादरी का मिला साथ – सोमबीर : पहले गुट के नवनियुक्त प्रधान सोमबीर सांगवान ने प्रेस वार्ता कर पंचायत सदस्यों द्वारा उन्हें प्रधान नियुक्त करने के दस्तावेज दिखाए। उन्होंने कहा कि 36 बिरादरी ने उनको प्रधान बनाया है।

खाप को अभी सूचना नहीं – डीपी : सांगवान खाप के सचिव नरसिंह डीपी ने कहा कि गांव चरखी को ही सांगवान खाप का प्रधान नियुक्त करना था। फिलहाल खाप कमेटी के पास किसी के भी प्रधान बनने की अधिकारिक सूचना नहीं है। यदि प्रधान पद को लेकर कोई विवाद है तो सामाजिक भाईचारे से मामले को सुलझा लिया जाएगा। खाप में कोई विवाद नहीं होगा।

सत्यपाल प्रधान – कुलदीप : गांव चरखी के पूर्व सरपंच कुलदीप सांगवान ने कहा कि सत्यपाल सिंह उर्फ सत्ते को सांगवान खाप का प्रधान चुना गया है। इस बारे में कुछ लोग भ्रम फैलाने का प्रयास कर रहे है। खाप परंपराओं के अनुसार सत्यपाल का चुनाव हुआ है।

चरखी से ही प्रधान चुनने की परंपरा : दादरी जिले की सबसे बड़ी खाप सांगवान चालीस में करीब 53 गांव पड़ते है। इस खाप का सामाजिक तौर पर काफी दबदबा रहा है। खाप ने समय समय पर सामाजिक कुरीतियों, जातिवाद को मिटाने व दूसरे समाज परिवर्तन के महत्वपूर्ण फैसले लिए है। इसी नजरिए से कर्नल रिसाल सिंह के निधन के बाद इस खाप के प्रधान के पद को लेकर भी काफी चर्चाओं का दौर जारी रहा है। परंपराओं के अनुसार सांगवान खाप का सबसे बड़ा व खाप की निकासी का गांव चरखी माना जाता है। इस कारण इसी गांव से चुने जाना वाला प्रधान पूरी खाप का प्रधान माना जाता रहा है। इससे पूर्व सर्वसम्मति से प्रधान चुने जाने की परंपरा रही है लेकिन पिछले कुछ दिनों से इस पद को लेकर चल रही गुटबंदी, धड़ेबाजी के कारण गांव चरखी में कई दावेदार सामने आ रहे है। कुल मिलाकर उक्त मामला काफी दिलचस्प दिखाई देने लगा है।

August 1, 2017 को प्रकाशित