◀ Back खाप पंचायत समाचार
Border

मां व दादी के गोत्र छोड़ने का फैसला नहीं लिया: सतरोल खाप

हिसार [जासं]। बीते दिनों लिए गए ऐतिहासिक फैसले पर उठ रहे विरोध के सुर के बीच सतरोल खाप ने कहा है कि शादी के लिए मां व दादी के गोत्र छोड़ना का फैसला नहीं लिया गया।

आदर्श सतरोल खाप के महासचिव कैप्टन महाबीर ने सोमवार को दादा देवराज धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कुछ लोग पंचायत के फैसले को तोड़मरोड़ कर पेश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मां व दादी के गोत्र में भी शादी का बंधन हटाने का ऐसा कोई फैसला नहीं लिया गया। 20 तारीख को लिए गए फैसले के मुताबिक सिर्फ गांव, गोत्र जिनमें मां व दादी के गोत्र सहित पड़ोसी गांव को छोड़कर किसी भी गांव में अपनी रिश्तेदारी कर सकता है। समाज में जो रीति रिवाज पहले थे वो अब भी लागू रहेंगे। उन्होंने कहा कि फैसला पूरी खाप के लोगों ने अपनी आत्मा से किया था। सतरोल खाप हिन्दू मैरिज एक्ट में संशोधन की मांग को पिछले काफी समय से उठाती रही है। जल्द ही पूरे प्रदेश की खापों के प्रतिनिधियों को बुलाकर इसके लिए आंदोलन पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सतरोल खाप ने मातृ शक्ति का हमेशा सम्मान किया है।

 

April 29, 2014 को प्रकाशित
Border