◀ Back खाप पंचायत समाचार
Border

अंतरजातीय विवाह पर सांगवान खाप की भी मुहर – जागरण

भिवानी [जासं]। सतरोल खाप के फैसले से चली बदलाव की बयार दूसरी खापों को भी सुहाने लगी है। अब सांगवान चालीस खाप ने भी अंतरजातीय वैवाहिक संबंधों को मान्यता दे दी है। हां, इसके लिए युवक-युवतियों के परिवारों की सहमति जरूरी है।

खाप सांगवान चालीस को दिशा निर्देश देने के लिए गठित उच्च स्तरीय सलाहकार समिति की रविवार को हुई बैठक में ये निर्णय लिए गए। इसके मुताबिक अंतरजातीय विवाह संबंधों को भी पंरपरागत रूप से सामाजिक तौर पर किए जाने वाले वैवाहिक रिश्तों की तरह देखा जाएगा और ये खाप सीमा से बाहर किए जा सकेंगे।

मालूम हो कि सांगवान खाप के दर्जन भर बड़े-बड़े गांवों में 400 से 600 तक विवाह योग्य अथवा विवाह की आयु पार कर चुके युवक रिश्तों के इंतजार में हैं। खाप के प्रधान कर्नल रिसाल सिंह की अध्यक्षता में करीब तीन घंटे चली बैठक में सचिव नरसिंह डीपी डोहकी, सांगवान खाप कन्नी बाइस के प्रधान सूरजभान, कन्नी बारह के प्रधान प्रताप सिंह, कन्नी पांच के प्रधान रविंद्र सिंह छपार, कन्नी पांच के प्रधान वेदपाल एडवोकेट, कन्नी पांच के प्रधान रामसिंह तिवाला, कन्नी पांच के प्रधान ईश्वर सिंह पैंतावास कलां आदि ने अपने विचार रखे।

बैठक में निर्णय लिया गया कि खापों की मान्यताओं के अनुसार हिंदू मैरिज एक्ट में सुधार करने, भ्रूण हत्या रोकने व इस बारे में व्यापक स्तर पर जन जागरण अभियान चलाया जाएगा। सांगवान खाप के प्रतिभाशाली छात्र, छात्राओं, प्रशासनिक व उच्च स्तरीय परीक्षाओं में अव्वल आने वालों, समाज सेवा के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित करने, हर वर्ष सांगु धाम खेड़ी बूरा में चैत्र मास नवमी पर दादा सांगु जन्मदिवस पर बड़े आयोजन करने आदि निर्णय लिए गए।

April 29, 2014 को प्रकाशित
Border