◀ Back खाप पंचायत समाचार
Border

हिसार .पाई .जाखौली गांव व ढुल खाप के गांवों के बीच भाईचारे का संबंध अब वैवाहिक  रिश्तों के रूप में कायम हो सकेगा। पहले इनके बीच भाईचारे का संबंध कायम  होने के कारण आपस में वैवाहिक रिश्तों की मनाही थी।  इस मसले पर एक बैठक  पाई के पुराना बस अड्डा मैदान पर संपन्न हुई। भाईचारे के संबंध को वैवाहिक  रिश्तों के रूप में अपनाने के लिए गांव जखौली से 36 बिरादरी के लोगों की एक  महापंचायत सर्वजात सर्वखाप नेता मनीराम कादियान के नेतृत्व में पाई  पहुंची।
महापंचायत में ढुल खाप की ओर से पाई, भाणा, सेरधा, रमाणा-रमाणी, फरियाबाद,  हरसौला, शेरू खेड़ी आदि गांवों के 36 बिरादरी के लोगों ने भाग लिया। ढुल  खाप का नेतृत्व खाप अध्यक्ष एवं रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हरफूल ¨सह ने किया।   महापंचायत में गांव जखौली की ओर से भाईचारे के संबंध को वैवाहिक रिश्तों  के रूप में अपनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया। प्रस्ताव पर काफी तर्क-वितर्क  के बाद दोनों ही पक्ष वैवाहिक रिश्तों को अपनाने के मुद्दे पर सहमत हो गए।
सर्वजात सर्वखाप नेता मनीराम कादियान ने कहा कि एक गोत्र एक गांव में शादी  के उभरते मसलों की रोकथाम के लिए यह पग उठाया गया है। नजदीकी ढुल गोत्र के  गांव व जाखौली गांव के विभिन्न गोत्रों के बीच वैवाहिक रिश्ते कायम होने की  प्रथा का शुभारंभ होने से एक गोत्र एक गांव में शादी के मसलों पर अंकुश  लगेगा। ढुल खाप अध्यक्ष हरफूल ¨सह ने कहा कि ढुल खाप के गांवों व जाखौली  गांव के बीच आपसी भाईचारे के संबंध पिछले 100 वर्षो से भी अधिक समय से कायम  थे। इस सहमति से दोनों पक्षों के इतिहास में एक नए अध्याय का सूत्रपात हो  गया है।

June 27, 2012 को प्रकाशित
Border